“जिस समय हम भारत के जनसांख्यिकी लाभांश को शान से प्रदर्शित करते हैं,उस समय हम रोजगार योग्यता की पतनशील दरो को नजर अन्दाज कर देते है|”क्या हम ऐसा करने में कोई चूक कर रहे है?भारत को जिन जाँबो की बेसब्री से दरकार है,वे जाँबकहाँ से आयेगे ? स्पष्ट कीजिये ?[200 शब्द ]

, | August 5th, 2019



WhatsApp Message!